क्या आलू को मोटापे से जोड़ना कितना सही? इस तरह खाएंगे तो कंट्रोल रहेगा वजन

0
32
 कम करीए आलू में फैट, सोडियम या कोलेस्ट्रॉल नहीं होता. वहीं विटामिन बी 6, फाइबर, मैग्नीशियम और एंटीऑक्सीडेंट की अच्छी मात्रा होती है.
उबले हुए आलू यदि ठंडे करके काली मिर्च- नमक  नेबू के साथ खाएं जाएं तो बहुत सी शारीरिक बीमारियों में फायदेमंद साबित हो सकते हैं.

 हमारे देश में आलू वो सब्जी है जिसका प्रयोग किसी भी सब्जी के साथ किया जा सकता है. तभी तो सब्जियों का राजा आलू को कहा जाता है. आलू मतलब ढेर सारे स्वादिष्ट व्यंजन. बात चाहे आलू टिक्की जैसे देसी स्वाद की हो या आलू टिक्की बर्गर का विदेशी स्वाद. हर फूड आयटम में तड़का लगाने का काम करता है

आलू, लेकिन फिर भी लोग आलू को बीमारी की जड़ भी कहते हैं, विशेषकर शुगर के मरीजों के लिए. हेल्थ के अनुशार हम आलू में पोटैशियम पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है. इसके अलावा इसमें फाइबर भी होता है. ये ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखता है. डाइजेशन के लिए भी आलू का सेवन फायदेमंद है. ये कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी कम करता है. आलू में विटामिन ए, सी, बी-कॉम्पलेक्स और कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है. ये हाइपोग्लाइसेमिक इंडेक्स को घटाता है.

आलू खाने का हल्की तरीका

उबले हुए आलू को डाइट में शामिल कर सकते हैं. आलू को उबालने के बाद पूरी तरह ठंडा होने दें. इसके बाद इसे टुकड़ों में काटें. उबले आलू का स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें काली मिर्च मिला सकते हैं. आलू को दही या छाछ में मिलाकर नाश्ते या लंच में खाना भी फायदा ​पहुंचाएगा. उबले हुए आलू का सेवन वजन कंट्रोल करने में मददगार होता है.

बला आलू बचाता है ओवर ईटिंग से

उबले हुए आलू के सेवन से आप ओवर ईटिंग से बचेंगे. इससे होगा बजन कम इससे खाने से बार-बार भूख नहीं लगती. उबले हुए ठंडे आलू में अधिक मात्रा में रेसिस्टेंस स्टार्च बनता है. ये मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है और शरीर की अतिरिक्त चर्बी को घटाता है. उबले हुए आलू में स्वीट पोटैटो के बराबर ही कैलोरी कम हो जाता है.

पोषक तत्वों की मात्रा

क्या आलू में पोषक तत्वों की भरपूर मात्रा होती है. इसमें फैट, क्या खाने से फायदे मंद है सोडियम या कोलेस्ट्रॉल नहीं होता. वहीं विटामिन बी 6, फाइबर, मैग्नीशियम और एंटीऑक्सीडेंट की अच्छी मात्रा होती है. आलू में पोटैशियम की मात्रा केले के तुलना में ज्यादा होती है. वहीं इसमें रोजाना की जरूरत का लगभग आधा विटामिन सी होता है. आलू फ्री रेडिकल्स से लड़ता है जिससे हृदय रोगों, डायबिटीज और कैंसर जैसी बीमारियों का खतरा कम होता है. 

आलू को छिलके के साथ पकाने कि बिधि :

छिलके सहित और पके हुए आलू में पोषक तत्वों की अच्छी होती है. इसे खाना आपके लिए फायदेमंद होगा. आलू को हमेशा छिलके के साथ उबालें​ बिना छिलके के नहीं. अगर आप आलू को बिना छिलके के उबालते हैं तो इससे आलू में विटामिन सी और बी जैसे पोषक तत्व कम हो जाते हैं. आलू को उबालने के लिए कम पानी का इस्तेमाल करें.

इन चीजों के साथ खाने से बचें

आलू के साथ अधिक मात्रा में घी, तेल, मशाला  मक्खन, क्रीम, पनीर और आर्टिफिशियल फ्लेवर का इस्तेमाल न करें. आलू को पकाने के लिए जैतून के तेल जैसे हेल्दी तेल का इस्तेमाल कर सकते है 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here