जौनपुर के रामपुर थाना क्षेत्र स्थित औद्योगिक क्षेत्र सिधवन इन दिनों नकली सीमेंट बनाने के धंधे को लेकर सुर्ख़ियों में है

0
136

जौनपुर के रामपुर थाना क्षेत्र स्थित औद्योगिक क्षेत्र सिधवन इन दिनों नकली सीमेंट बनाने के धंधे को लेकर सुर्ख़ियों में है। एक माह के अंदर पुलिस ने नकली सीमेंट से भरी तीन वाहनों का चालान गैर जनपद पुलिस द्वारा कर देने के बाद सिधवन औद्योगिक क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है।

भारी मात्रा में नकली सीमेंट विभिन्न कंपनियों के नकली सीमेंट बरामद होने के बावजूद पुलिस नकली सीमेंट बनाने वाले गिरोहों के असली चेहरा जनता के सामने लाने में नाकामयाब हो रही है। पुलिस नकली सीमेंट के साथ चल रहे ट्रक चालक अथवा उनके साथी को गिरफ्तार कर फैक्ट्री के मालिक का नाम छिपाने में लगी हुई है। सीमेंट किस फैक्ट्री से निकलती है और कहां निर्माण होती है सब कुछ जानती है इसके बावजूद दो जून की रोटी कमाने वाले चालक और वाहनों पर सीमेंट लादने वाले मजदूर पुलिस के शिकार हो जा रहे हैं। पुलिस उनके ऊपर ही भारी भरकम मुकदमा लादकर जेल की हवा खिला दे रही है।

बुधवार की शाम सिधवन फैक्ट्री से सीमेंट लादकर एक ट्रक जा रही थी कि भदोही जनपद की पुलिस ने नगर के विवेकानंद चौराहे पर वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस ने ट्रक पर लादी गई 490 बोरी नकली सीमेंट दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। कॉपीराइट एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर दोनों को जेल भेज दिया गया।

प्रभारी निरीक्षक भदोही गगन राज सिंह और चौकी प्रभारी धौरहरा की टीम जौनपुर भदोही सीमा पर स्थित विवेकानंद चौराहे पर वाहनों की तलाशी के दौरान ट्रक संख्या यूपी 33 टी 1417 से 490 बोरी नकली सीमेंट बरामद किया। जिसमें 200 बोरियों पर एसीसी और 290 बोरियों पर नामी कंपनी का लेबल लगा पाया गया। सीमेंट कंपनी का लेबल लगा पाया गया। इस मामले में गंगा प्रसाद निवासी फरीदपुर थाना जिला रायबरेली, लवलेश कुमार यादव निवासी बुजुर्ग थाना मिल एरिया जिला रायबरेली को गिरफ्तार कर लिखा पढ़ी के बाद जेल भेज दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here