जौनपुर जिले के शाहगंज नगर से चोरी की गई पिकअप गाड़ी प्रतापगढ़ जिले में जीपीएस के माध्यम से पकड़े जाने पर दस साल में कबाड़ी से करोड़पति बने 20 लोग

0
178

शैलेश कुमार की रिपोर्ट…..

जौनपुर जिले के शाहगंज नगर से चोरी गई पिकअप गाड़ी प्रतापगढ़ जिले में जीपीएस के माध्यम से पकड़े जाने के बाद से वाहन चोरी के इस बड़े अंतर्जनपदीय रैकेट का खुलासा हो गया। इस घटना के खुलासे के बाद से कबाडिय़ों पर पुलिस का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। सूत्रों के अनुसार दस साल में कबाड़ी से करोड़पति बने 20 लोगों की पुलिस ने सूची बना ली है। इन पर कार्रवाई की तैयारी शुरू हो चुकी है।

 

जौनपुर जिले के खेतासराय कस्बा में 50 से अधिक कबाड़ी व्यापारी हैं जिनका कारोबार जौनपुर के सभी छह तहसील और पड़ोसी जनपदों में बड़े पैमाने पर फल फूल रहा। यही वजह है कि जौनपुर जनपद के पड़ोसी जनपद आजमगढ़, मऊ, बलिया, भदोही, गाजीपुर, चंदौली, बनारस और प्रतापगढ़ के किसी भी कोने में वाहन चोरी होने पर पुलिस शाहगंज तहसील के खेतासराय कस्बे में जरूर पहुंचती है।

 

यह कारोबार कुछ सालों में इतना बढ़ा कि जो भी इससे जुड़ा मालामाल हो गया। इसके चलते ही यहां 50 से अधिक दुकान, इतने ही गोदाम और तीन सौ से ज्यादा एजेंट हैं।

वाहन आते ही कुछ देर में कट-खप जाता है। लगातार हो रहे कटान को रोकने की जिम्मेदारी स्थानी पुलिस की है लेकिन हल्का पुलिस से मिली सांठगांठ और कबाड़ियों की रसूखदार पहुंच के चलते इनके खिलाफ कभी कोई कार्रवाई नहीं हुई।

 

कबाड़ के इस कारोबार में जुड़े खेतासराय कस्बे के जोगियाना मोहल्ला निवासी एक व्यक्ति ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि जौनपुर में तैनात रहे पूर्व के पुलिस अधीक्षक ने 10 साल के भीतर कटान के काम से जुड़े लोगों के बारे में जानकारी एकत्र कराई थी लेकिन उनके स्थानांतरण के बाद ही मामला खटाई में पड़ गया।

 

इस जांच में उस दौरान 20 लोग ऐसे मिले हैं, जो फर्श से अर्श पर पहुंच गए। उनकी जाँच कराई जाए तो कई चौंकाने वाले खुलासे हो सकते हैं।

 

इस संबंध में पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि प्रदेश शासन के विशेष निर्देश पर मेरठ में तैनात रहे हैं जौनपुर के मौजूदा पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने मेरठ में ऐसी ही बड़ी कार्रवाई अपने समय में की थी। उन्होंने उस समय गैंगस्टर के तहत कार्रवाई किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here