जिला प्रशासन द्वारा गोण्डा के मंदिरों को पर्यटन के रूप में विकसित करने की तैयारी

0
273

माँ वाराही देवी मंदिर सहित दो और मंदिर पर्यटन के रूप में होगें विकसित- जिलाधिकारी

अश्वनी  गौतम गोण्डा की रिपोर्ट


गोंडा। जनपद के तीन धार्मिक स्थलों को पर्यटन क्षेत्र के रूप विकसित करने का कार्य शीघ्र ही प्रारंभ होने जा रहा है। यह जानकारी देते हुये जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने बताया कि जनपद के विकासखंड बेलसर अन्तर्गत मां वाराही देवी (उत्तरी भवानी मंदिर), श्री महादेव चन्द्रेश्वर नाथ मंदिर चंदापुर तरबगंज एवं महर्षि यमदाग्नि आश्रम स्थल जमथा तरबगंज को चयनित किया गया है। चयनित तीनों धार्मिक स्थलों क्रमशः मां वाराही देवी मंदिर बेलसर को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए 50.55 लाख रुपए, श्री महादेव चन्द्रेश्वर मंदिर चंदापुर के लिए 50 लाख रुपए तथा तहसील तरबगंज के अन्तर्गत ही महर्षि यमदग्नि आश्रम जमथा के विकास हेतु 49.96 लाख रुपए का आगणन प्रस्तुत किया गया है। जिलाधिकारी ने बताया कि तीनों धार्मिक मंदिरों को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए शासन द्वारा उत्तर प्रदेश आवास विकास उत्तर प्रदेश आवास एवं परिषद को कार्यदाई संस्था नामित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here