7 सितंबर से भारत जोड़ो यात्रा शुरू करने जा रही हैं. यह कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक पदयात्रा होगी..

0
41

नई दिल्ली. कांग्रेस पार्टी भारत को एकजुट करने और राष्ट्र को मजबूत बनाने के लिए 7 सितंबर से भारत जोड़ो यात्रा शुरू करने जा रही हैं. यह कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक पदयात्रा होगी. राहुल गांधी इस पदयात्रा की अगुवाई कर रहे हैं. उनके साथ 100 से भी अधिक नेता शामिल होंगे. ये नेता लगभग सभी वर्गों और प्रदेशों का प्रतिनिधित्व करेंगे. पद यात्रा करने वाले 100 से भी अधिक नेताओं को ‘भारत यात्री’ का नाम दिया गया है.

आइए जानते हैं क्या है कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा और इसके क्या है मायने

क्या है भारत जोड़ो यात्रा

भारत को बीजेपी के खिलाफ एकजुट करने के इरादे से भारत जोड़ो यात्रा शुरू की जा रही है. ये यात्रा कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक होगी. इस दौरान ये पदयात्रा 12 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों से होकर गुजरेगी. इसकी शुरुआत तमिलनाडु के कन्याकुमारी से होगी. इस पदयात्रा में राहुल गांधी के साथ शुरू से लेकर आखिर तक 100 से भी अधिक नेता चलेंगे. इसमें पार्टी के मीडिया व प्रचार प्रमुख पवन खेड़ा और कन्हैया कुमार भी शामिल हैं. कांग्रेस के मुताबिक, भारत जोड़ो यात्रा भारत की एकता का उत्सव और आशा का त्योहार है. इसमें भारत के सभी लोग भाग ले सकते हैं. यह पदयात्रा भय, कट्टरता, बढ़ती हुई बेरोजगारी और समाज में फैलते हुए असमानताओं के खिलाफ शुरू की जा रही है.

भारत जोड़ो यात्रा का थीम सॉन्ग क्या है

कांग्रेस ने ‘भारत जोड़ो यात्रा’ से पहले भारत जोड़ो गीत लॉन्च किया है. इस गीत को सोमवार को हिंदी में जारी किया गया. इस गीत की प्रमुख पंक्ति एक तेरा कदम, एक मेरा कदम, मिल जाए जुड़ जाए अपना वतन है. इसे अन्य भाषाओं में भी जारी किया जाएगा. कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने गीत विमोचन के दौरान कहा कि भारत जोड़ो यात्रा का लाइव प्रसारण होगा. राहुल जी जब किसानों, मछुआरे व अन्य लोगों से बात करेंगे तो वह लाइव चलेगा.

कितने किलोमीटर की होगी ये यात्रा

कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक चलने वाली यह यात्रा 150 दिनों तक चलेगी. इस दौरान 3,500 किलोमीटर का सफर तय किया जाएगा. यात्रा में राहुल गांधी के साथ कांग्रेस के कार्यकर्ता और अलग-अलग हिस्सों से नेता जुड़ेंगे. कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश मुताबिक यात्रा के जरिए कांग्रेस पार्टी देश के 12 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों को कवर करेगा.

यात्रा में क्या क्या होगा

राहुल गांधी की इस यात्रा में राजस्थान से चुनिंदा नेता ही शामिल होंगे. यात्रा के रूट में हर दिन सभाएं और नुक्कड़ मीटिंग्स होंगी. इनमें राहुल गांधी के भाषण होंगे. कुछ नेताओं के भाषण भी रखे गए हैं. पार्टी के ग्राासरूट वर्कर के मन की बात भी जानने की कोशिश होगी.

कौन से नेता हो रहे हैं शामिल

भारत जोड़ो यात्रा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट, प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा सहित अन्य नेता शामिल होंगे. राजस्थान में आपदा राहत मंत्री गोविंद मेघवाल को यात्रा के कॉर्डिनेशन की जिम्मेदारी दी गई है. इस यात्रा में स्थानीय लोगों से राहुल खुद बात करेंगे.

कितने बैच में चलेगी यात्रा

पदयात्रा दो बैचों में चलेगी, एक सुबह 7-10:30 बजे से और दूसरी दोपहर 3:30 बजे से शाम 6:30 बजे तक. जहां सुबह के सत्र में कम संख्या में प्रतिभागी शामिल होंगे, वहीं शाम के सत्र में सामूहिक लामबंदी होगी. औसतन रोजाना लगभग 22-23 किमी चलने की योजना है. कांग्रेस ने दावा किया है कि कश्मीर से कन्याकुमारी तक की उसकी यात्रा किसी भी तरह से ‘मन की बात’ नहीं है, बल्कि इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि लोगों की चिंताएं और मांगें दिल्ली तक पहुंचे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here