Children’s Day 2021: जानिए भारत में 14 नवंबर को क्‍यों मनाया जाता है बाल दिवस?

0
10

उत्तर प्रदेश , 09 नवंबर

भारत में हर वर्ष 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है। बच्‍चों के अधिकारों और उनकी शिक्षा के बारे में जागरुकता बढ़ाने के लिए ये दिवस मनाया जाता है। इस साल के बाल दिवस पर जानिए 14 नवंबर को ही भारत में बाल दिवस क्‍यों मनाया जाता है

नवंबर 1889 को भारत के पहलेप( prdhanmatri jvaharlal nehru ) का जन्म हुआ था। जो बच्‍चों के बीच चाचा नेहरू के नाम से जाने जाते हैं। जवाहर लाल नेहरू बच्‍चों को एक राष्ट्र की असली ताकत और समाज की नींव मानते थे।भारत में 1956 से बाल दिवस मनाया जा रहा है लेकिन पहले ये 20 नवंबर को मनाया जाता था।

प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की मृत्यु के बाद उनकी जयंती को भारत में बाल दिवस की तारीख के रूप में चुना गया था और तभी से बच्‍चों के प्‍यारे चाचा नेहरू के 14 नवंबर को पड़ने वाले जन्‍मदिन को बाल दिवस के तरह   मनाया जाता है  बाल दिवस इतिहास चाचा नेहरू की मृत्यु के बाद, भारत के पहले प्रधानमंत्री की जयंती को बाल दिवस के रूप में मनाए जाने के लिए भारतीय संसद में एक प्रस्ताव पारित किया गया था। ऐसा 

इसलिए किया गया क्योंकि वह बच्चों के बीच का जवाहलाल नेहरु बहुत लोकप्रिय थे। मंजूरी मिलने के बाद से 14 नवंबर को बाल दिवस भारत में मनाया जाना शुरू हुआ था । 

इसे जरुर पढ़े –

बाल दिवस का महत्व बाल दिवस पर देश के पहले प्रधानमंत्री को नेहरू जी को श्रद्धांजलि अर्पित करने के अलावा, यह दिवस बच्चों के अधिकारों, उनकी देखभाल और शिक्षा पर बात करने के लिए किया जाता है। चाचा नेहरू ने कहा था आज के बच्चे कल का भारत बनाएंगे। जिस तरह से हम उन्हें पालेंगे, वही देश का भविष्य तय करेगा।”बाल दिवस इतिहास चाचा नेहरू की मृत्यु के बाद, भारत के पहले प्रधानमंत्री की जयंती को बाल दिवस के रूप में मनाए जाने के लिए भारतीय संसद में एक प्रस्ताव पारित किया गया था। ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि वह बच्चों के बीच बहुत लोकप्रिय थे। 

मंजूरी मिलने के बाद से 14 नवंबर को बाल दिवस भारत में मनाया जाना शुरू हुआ। बाल दिवस का महत्व बाल दिवस पर देश के पहले प्रधानमंत्री को नेहरू जी को श्रद्धांजलि अर्पित करने के अलावा, यह दिवस बच्चों के अधिकारों, उनकी देखभाल और शिक्षा पर बात करने के लिए किया जाता है। चाचा नेहरू ने कहा था आज के बच्चे कल का भारत बनाएंगे। जिस तरह से हम उन्हें पालेंगे, वही देश का भविष्य तय करेगा।

मनाने कि बिधिया 

बाल दिवस समारोह भारत में बाल दिवस स्कूलों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों में बड़ी धूम-धाम से साथ मनाया जाता है। बच्चों को उनके लिए दिन को खास बनाने के लिए उन्‍हें खिलौने, मिठाई और उपहार  भी दिए थे । बाल दिवस के असवसर पर भारत भर के स्कूलों में फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता, भाषण और निंबध प्रतियोगिता सहित मजेदार और प्रेरक समारोह आयोजित करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here