जौनपुर।नेवढ़िया घर के बाहर सो रहे बड़े पिता को सनकी भतीजे ने उतारा मौत के घाट, परिवार पर बरसाई ताबड़तोड़ गोलियां

0
183

 

घर के बाहर सो रहे बड़े पिता को सनकी भतीजे ने उतारा मौत के घाट, परिवार पर बरसाई ताबड़तोड़ गोलियां

जौनपुर नेवढ़िया थाना अंतर्गत क्षेत्र रामनगर ब्लाक के बीधमहुआ गांव के एक सनकी भतीजे आकाश ने ना जाने कौन सी खुन्नस में अपने ही सगे बड़े पिता व परिवार की दो महिला सहित एक 13 वर्षीय मासूम पर बरसाई ताबड़तोड़ गोली, आकाश द्वारा देर रात घर के बाहर सो रहे 65 वर्षीय बड़े पिता राजबलि को अपनी गोली का निशाना बनाते हुए दो गोली मारकर उतारा मौत के घाट,

गोली चलने की आवाज सुनकर घर के छत पर सो रहे बड़े पिता के लड़के रविन्द्र यादव सहित परिवार के सभी सदस्य भाग कर बाहर आए तो देखा कि आकास हाथ में असलहा लिए हुए था जिसने रविन्द्र के पिता को गोली मारकर हत्या कर दिया जिसके बाद रविन्द्र सहित परिवार के लोग आकाश को पकड़ने के लिए दौड़े ही थे कि अपने परिवार के खून के प्यासे आकाश ने अंधाधुंध गोलियां चलाना शुरु कर दिया

जिसके द्वारा चलाई गई दो गोली रविन्द्र की मां शान्ति देवी 60 वर्षीय के पेट में लगी और एक गोली रविन्द्र की पत्नी विमला 40 वर्षीय के पैर में लगी वही एक एक गोली रविन्द्र के मासूम बेटे गौरव यादव 13 वर्षीय के गुठने के उपर एक गोली लगी इतने के बावजूद रविन्द्र ने हत्यारे आकाश का पीछा करना चाहा की उनसे असलहे के मुठियां से रविन्द्र यादव 45 वर्षीय के सिर पर मारकर मौके से हुआ फरार,

सनकी आकाश के द्वारा चलाई गई ताबड़तोड़ गोली से राजबलि की मौके पर ही मौत हो गई, वही परिवार की दो महिला सहित 13 वर्षीय मासूम को लगी गोली, वही गांव में गोली चलने की घटना से क्षेत्र में दहशत का माहौल कायम हो गया,

घटना की सूचना स्थानीय पुलिस को मिलते ही मौके पर पहुची पुलिस ने आनन फानन में सभी घायलों को इलाज के लिए भेजा जिला अस्पताल जहाँ घायल रविन्द्र को भर्ती कर इलाज किया जा रहा है

अन्य सभी घायलों की नाजूक स्थिति देखते हुए उन्हें बेहतर इलाज के लिए ट्रामा सेन्टर वाराणसी के लिए रेफर किया गया, घटना के बाद मौके पर पहुची पुलिस आरोपी की धरपकड़ में जुट गई है,

वही घायल रविन्द्र ने बताया कि उसके परिवार के लगभग सदस्य रोजीरोटी के सिलसिले में महाराष्ट्र में रहते हैं गांव में माता पिता के साथ बड़े भाई की पुत्री दीपिका रहती हैं हम सभी परिवार के साथ महाराष्ट्र में रहते हैं माता पिता से मिलने के लिए अभी तीन दिन ही हुआ हैं गांव आए और चाचा के सनकी लड़के ने हम सभी परिवार पर देर रात ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी

जिसमें मेरे पिता की मौत हो गई है और मां को दो गोली लगने के कारण उनकी भी स्थिति गंभीर बनी हुई हैं मां सहित मेरी पत्नी व बेटे को भी गोली लगी है जिन्हें बेहतर इलाज के लिए चिकित्सक द्वारा वाराणसी रेफर किया गया है,

वही रविन्द्र ने यह भी बताया कि उसके चाचा का लड़का एक वर्ष पूर्व जेल से रिहा हुआ था जो महाराष्ट्र में किसी कांड के दौरान तीन वर्ष तक जेल में रह चुका है जो अब आज अपने ही परिवार का दुश्मन बन बैठा, सनकी चचेरे भाई के प्रकोप का मेरा पूरा शिकार हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here