बांदा जेल में और सख्त हुआ माफिया मुख्तार अंसारी पर पहरा, हर माह बदले जाएंगे डिप्टी जेलर समेत 15 जेलकर्मी

0
48

 

 

लखनऊ। बांदा जेल में बंद माफिया मुख़्तार अंसारी पर अब और पहरा कड़ा किया जाएगा।डीआईजी जेल की रिपोर्ट के बाद मुख्तार के बैरक की निगरानी को और बढ़ा दिया गया है।हर महीने डिप्टी जेलर समेत 15 जेलकर्मियों को बदला जाएगा।हर महीने दूसरे जेल से डिप्टी जेलर समेत अन्य कर्मियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। इतना ही नहीं मुख़्तार की बैरक के पास 20 सीसीटीवी कैमरे और बढ़ाए जाएंगे,कैमरे में ख़राबी आने पर तुरंत बदला जाएगा।मुख़्तार के बैरक की 24 घंटे निगरानी जेल मुख्यालय लखनऊ में बनी डिजिटल वीडियो वॉल से करने के भी निर्देश दिए गए हैं।मुख्तार के आसपास तैनात स्टाफ को बॉडी वॉर्न कैमरे पहनने होंगे।

 

आपको बता दें कि पिछले दिनों डीएम अनुराग पटेल और एसपी ने बांदा जेल में छापा मारा था।छापेमारी के दौरान कई अनियमितताएं सामने आई थी।डिप्टी जेलर ने डीएम और एसपी के साथ अभद्रता भी की थी।जिसके बाद डिप्टी जेलर को निलंबित कर दिया गया था।डीएम ने जेल में चेकिंग के दौरान मिली अनियमितताओं को लेकर शासन को पत्र लिख कर जानकारी दी थी।डीएम की शिकायत का संज्ञान देते हुए जेल पुलिस महानिदेशक/महानिरीक्षक कारागार आनंद कुमार ने बांदा जेल के उप कारापाल (डिप्टी जेलर) वीरेशवर प्रताप सिंह को निलंबित कर दिया और उन्हें जांच होने तक मुख्यालय में रहने के आदेश दिए।

 

मुख़्तार से नरमी बरतने के आरोप में डिप्टी जेलर हुए थे निलंबित

 

डिप्टी जेलर वीरेशवर प्रताप सिंह मुख्तार अंसारी के साथ जेल में नरमी बरत रहे थे।डिप्टी जेलर मुख्तार को जेल के अंदर कुछ खास सुविधाएं मुहैया करवा रहे थे।जिसके बाद मामले की जांच डीआईजी जेल को सौंपी गई थी।अब उसी रिपोर्ट के आधार पर मुख्तार पर पहरा बढ़ा दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here