भगवान श्रीकृष्ण और राधा के विवाह स्थल पर पहुंचकर देखा तो राधा कृष्ण के गुप्त विवाह

0
86

मथुरा से करीब 40 किलोमीटर दूर तहसील मांट क्षेत्र स्थित भांडीर

जानिए यह वही स्थान है, जहां भगवान श्रीकृष्ण और राधा का विवाह हुआ था. भगवान श्रीकृष्ण और राधा के विवाह स्थल पर पहुंचकर देखा तो राधा कृष्ण के गुप्त विवाह के साक्ष्य आज भी वहां

मथुरा

16 कलाओं में निपुण भगवान योगीराज श्रीकृष्ण और राधा के प्रेम के किस्से तो आपने बहुत ही सुने होंगे. लेकिन भगवान श्रीकृष्ण के जिस किस्से से हम आपको रूबरू कराने जा रहे हैं, उस किस्से को शायद ही आपने कभी सुना होगा. यह किस्सा श्रीकृष्ण और राधा के गुप्त विवाह से जुड़ा हुआ है. भगवान श्रीकृष्ण और राधा के गुप्त विवाह के मंत्र किसने पढ़े थे. किसने उनकी शादी कराई थी और कन्यादान किसने किया था. हर एक रहस्य से हम आज आपको रूबरू कराएंगे.

जानिए कहां हुआ था राधा-कृष्ण का गुप्त विवाह 

मथुरा से करीब 40 किलोमीटर दूर तहसील मांट क्षेत्र स्थित भांडीर वन है. यह वही स्थान है, जहां भगवान श्रीकृष्ण और राधा का विवाह हुआ था. News 18 लोकल की टीम ने भगवान श्रीकृष्ण और राधा के विवाह स्थल पर पहुंचकर देखा तो राधा कृष्ण के गुप्त विवाह के साक्ष्य आज भी वहां मौजूद हैं. उन्हें देखकर हम भी चौक गए. भांडीर वन मंदिर के पुजारी पंडित योगेंद्र दीक्षित ने भगवान श्रीकृष्ण और राधा के विवाह के बारे में बताते हुए कहा कि जब राधा और कृष्ण बाल्यावस्था में थे. तब उनका विवाह संपन्न हुआ. भगवान श्रीकृष्ण और राधा के विवाह को देखने के लिए हजारों की संख्या में देवी देवता यहां पहुंचे थे.

नारद जी ने किया था कन्यादान

अब भांडीरवन मंदिर के पुजारी का कहना है कि जब राधा और कृष्ण का विवाह हुआ था तो केवल 4 लोग इस विवाह में मौजूद थे. नारद जी ने राधा रानी का कन्यादान किया था. नारद के लिए वो पल बेहद ही अलौकिक था जब राधा का कन्यादान कर रहे थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here