यूपी पुलिस : फिरोजाबाद के सिपाही ने मेस के खाने को देखकर फूट-फूटकर रोया, 12 घण्टे डियूटी के दौरान मिलती है ऐसी रोटियां,पानी दाल,सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

0
90

यूपी पुलिस : फिरोजाबाद के सिपाही ने मेस के खाने को देखकर फूट-फूटकर रोया, 12 घण्टे डियूटी के दौरान मिलती है ऐसी रोटियां,पानी दाल,सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

उत्तर प्रदेश में पुलिसवालों का क्या हाल है इसकी बानगी फिरोजाबाद के एक सिपाही ने पेश की है। यूपी पुलिस के फिरोजाबाद के सिपाही ने मेस के खाने को देखकर फूट-फूटकर रोने लगा।

उसने रोते हुए जानवरों जैसे खाने की शिकायत कैमरे के सामने की। कॉन्स्टेबल मनोज कुमार ने अपना दुख जाहिर करते हुए बताया कि कैसे उन्हें कुत्तों से भी बदतर खाना परोसा जा रहा है। सिपाही का दुखड़ा सुनकर सूबे के अधिकारी सन्न हैं। सिपाही ने यहां तक कह दिया कि डीजीपी, आरआई समेत आला अधिकारी उनकी सुन नहीं रहे हैं और उसे धमकी दे रहे हैं। सिपाही ने कहा कि मेरा निवेदन है कि आप इसपर एक्शन लें।

कॉन्स्टेबल का दावा, मिल रही धमकी

कॉन्स्टेबल मनोज कुमार अलीगढ़ के निवासी हैं और वह फिरोजाबाद में तैनात हैं। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि यहां खाने की गुणवत्ता बहुत खराब है इसीलिए मैं खाने की थाली को लेकर आपके बीच आया हूं। मुख्यमंत्री ने पुलिस वालों को पौष्टिक आहार देने के लिए भत्ता बढ़ाया था लेकिन हमे पानी पड़ी दाल मिल रही है, इसमे कुछ भी नहीं है, ये रोटियां देखिए क्या इसे कोई खा सकता हूं। हमारी यहां कोई सुनने वाला नहीं है। हम शिकायत करते हैं तो मेस का मैनेजर मुझे बर्खास्त करवाने की धमकी देता है।

बिलखते हुए बताई आप बीती

रोते हुए मनोज कहते हैं कि केवल दबाव बनाया जा रहा है इस आरक्षी पर। कोई सुनने वाला नहीं है, यदि कप्तान साहब पहले ही सुन लिए होते तो यहां तक आने की मुझे आवश्यकता नहीं होती। मैंने कप्तान साहब से जयहिंद कहने के बाद उनसे कहा कि आप इसमे से 5 रोटी खा लीजिए, कम से कम आपको यह तो पता चले कि आपके सिपाही 12 घंटे ड्यूटी करने के बाद ये रोटियां खा रहे हैं। इसको यहां के कुत्तों को डाल दीजिए, मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि क्या ये आपके बच्चे ये रोटियां खा सकते हैं।

सिपाही आत्महत्या कर रहे

कॉन्स्टेबल ने कहा कि मैं केवल आपसे यह पूछना चाहता हूं कि अगर यूपी और हिंदुस्तान में मानवता जिंदा है तो बता दीजिए उत्तर प्रदेश पुलिस की यह हालत क्यों है, मैं सुबह से भूखा हूं, कोई सुनने वाला नहीं है, मैं किससे कह दूं, यहां मेरे मां-बाप तो हैं नहीं। इतने पर भी मुझे धमकी दी जा रही है, आरआई, मेस मैनेजर धमकी दे रहे हैं कि तुझे बर्खास्त करके छोड़ेंगे अगर तू जनता के बीच चला गया। आप बताइए ये मेरे साथ जादतीय हो रही है कि नहीं। डीजीपी के पीएस को फोन किया तो उन्होंने कहा कि फोन काट दो नहीं तो बर्खास्त कर दूंगा। आप बताइए मैं किसके बीच में अपनी समस्या लेकर जाऊं अगर मेरे अधिकारी सुनने को तैयार नहीं है। आए दिन आप देख रहे हैं कि सिपाही आत्महत्या कर रहे हैं। उन्हें दबाते चले जा रहे हैं ये लोग।

क्या कहना है पुलिस का

वहीं इस वीडियो के सामने आने के बाद सिविल लाइंस चौकी के सिपाही जबरन कॉन्स्टेबल को पुलिस की जीप में ले गए। फिरोजाबाद पुलिस ने सीओ सिटी को फूड क्वालिटी की जांच के आदेश दिए हैं। जिसके बाद फिरोजाबाद पुलिस की ओर से ट्वीट करके मनोज कुमार के खिलाफ अनुशासनहीनता, गैरहाजिरी और लापरवाही समेत तमाम शिकायतों को गिना दिया गया है। फिरोजाबाद पुलिस की ओर से ट्वीट करके लिखा गया है, मैस के खाने की गुणवत्ता से सम्बन्धित शिकायती ट्वीट प्रकरण में खाने की गुणवत्ता सम्बन्धी जांच सीओ सिटी कर रहे है। उल्लेखनीय है कि उक्त शिकायतकर्ता आरक्षी को आदतन अनुशासनहीनता, गैरहाजिरी व लापरवाही से सम्बन्धित 15 दण्ड विगत वर्षो में दिये गये है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here