लापरवाह प्रशाशन – दूसरी डोज लगी नहीं और जारी हो रहा सर्टिफिकेट!

0
101

कोविड-19 – वैक्सीनेशन प्रक्रिया में खामियां सामने आने लगी है। जिन लोगों ने पहली के बाद दूसरा डोज नहीं लगवाया उनकी भी रिपोर्ट पोर्टल पर दोनों डोज बता रहा है। सोमवार को पहुंचे आधा दर्जन लाभार्थियों को तमाम कवायद के बाद भी दूसरी डोज नहीं लगी। जिसकी वजह से उन्हें वापस होना पड़ा।

अभी दो दिन पहले ऐसा ही एक मामला सामने आया था। जिसमें वरिष्ठ पत्रकार की मौत के बाद दूसरी डोज लगाए जाने की रिपोर्ट सामने आयी। जिसकी सीएमओ ने जांच करायी। जांच में सीएमओ ने माना कि मानवीय भूल थी। लेकिन मानवीय भूल एक हो सकती है न कि उसकी संख्या दर्जन भर से अधिक हो।

जानकारी के अनुसार सोमवार को कोविड-19 टीके की दूसरी डोज लगवाने अरविंद कुमार, विनोद कुमार, लल्ला व चांदनी जिला पुरुष अस्पताल पहुंचे थे। आधार कार्ड नम्बर व मोबाइल नम्बर जब वेरीफायर ने पोर्टल पर दर्ज किया तो सभी का दूसरी डोज लगा हुआ पाया गया।

जिला अस्पताल में ऐसे कई मामले मिले जिनका सेकेण्ड डोज का सर्टिफिकेट जारी हो गया था। चांदनी नाम की लड़की 31 अगस्त को पहली डोज लगी थी। दूसरी डोज के लिए जिला पुरुष अस्पताल पहुंची थी। लेकिन स्वास्थ्य कर्मियों ने पोर्टल पर चेक कर उन्हें 25 नवम्बर 2021 को दूसरी डोज लगने का प्रमाणपत्र पकड़ा दिया।

चांदनी का मोबाइल नम्बर कुछ और है। जबकि अस्पताल से मिले प्रमाणपत्र पर कुछ और दर्ज है। लाभार्थियों का कहना है कि दूसरी डोज नहीं लगी। जब इसका कारण पूछा गया तो स्वास्थ्यकर्मी झूठा बताया गया। स्वास्थ्य कर्मियों का एक टूक कहना है कि दूसरी डोज लग गयी है।

अब नहीं लग पाएगी। जब पहली डोज के दौरान मोबाइल नम्बर अंकित हो गया तो दूसरा डोज भी उसी नम्बर पर लगेगा। ऐसे में वेरीफायर की लापरवाही के चलते ऐसे बहुत से लोग होंगे जिनको दूसरी डोज लगे बिना पोर्टल पर लगना दिखा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here