शिवराज का कानून : पुजारी ने मंदिर में रेप किया, दबाव बनाने के लिए पीड़िता के पति पर दर्ज कराई….

0
63

छतरपुर : मध्यप्रदेश में दलित, आदिवासी और पिछड़े समाज से आने वाली महिलाओं के ख़िलाफ़ अपराध लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। ऐसी ही एक वारदात छतरपुर ज़िले के खजुराहो थाना क्षेत्र में सामने आई है जहां ओबीसी समाज की एक महिला ने ब्राह्मण पुजारी पर झाड़-फूंक के नाम पर रेप करने का आरोप लगाया है लेकिन हैरान करने वाली बात ये है कि पीड़िता पर दबाव बनाने के लिए उसी के पति के खिलाफ FIR भी दर्ज करवा दी गई। अब पीड़िता महीने भर से इंसाफ के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही है।

मंदिर में बुलाकर पुजारी ने किया रेप – पीड़िता

FIR कॉपी के मुताबिक पीड़िता तबीयत ख़राब होने के कारण अपने पति के साथ लखैरी के ब्रह्मेश्वर धाम पर झाड़-फूंक कराने गई थी लेकिन 16 फ़रवरी को पुजारी लवलेश तिवारी ने उसे दोपहर बाद आने को कहा। पीड़िता के पति को खेत में पानी लगाने जाना था इसलिए वो अकेले ही धाम पर पहुंच गई। पीड़िता के मुताबिक जब वो पहुँची तो उसे भूत-प्रेत उतारने का हवाला देकर कमरे में बुलाया गया और उसके साथ झाड़-फूंक के नाम पर बलात्कार की वारदात को अंजाम दिया गया। पीड़िता ने घर आकर अपने पति को आपबीती सुनाई तो परिवार थाने पहुँचा था।

21 घंटे बाद दर्ज हुई FIR

राष्ट्रीय महिला आयोग को पीड़िता की ओर से भेजी गई शिकायत के मुताबिक़ वारदात के 13 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस ने आरोपी पुजारी लवलेश तिवारी के ख़िलाफ़ FIR दर्ज नहीं की जिसके बाद ओबीसी महासभा ने पुलिस के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया था जहां पुजारी के समर्थकों और ओबीसी महासभा के प्रदर्शनकारियों में टकराव की स्थिति पैदा हो गई थी। शिकायत पत्र के मुताबिक़ 18 फ़रवरी को रात 2:29 बजे आरोपी के ख़िलाफ़ FIR दर्ज हुई। पुलिस ने IPC की धारा 540 और 376 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी पुजारी फ़िलहाल जेल में बंद है।

महिला के पति के ख़िलाफ़ रेप का केस दर्ज

हैरान करने वाली बात ये है कि आरोपी पुजारी के ख़िलाफ़ रेप की FIR दर्ज होने से पहले 18 फ़रवरी को ही महिला के पति के खिलाफ गैंगरेप का केस दर्ज कर लिया गया। पीड़िता की ओर से महिला आयोग को भेजी शिकायत में लिखा गया है कि ‘स्थानीय नेताओं और बाबा के समर्थकों द्वारा प्रशासन पर दबाव बनाकर एक महिला ने उसके पति और कुछ अन्य लोगों पर किडनैप कर गैंगरेप का केस दर्ज करवा दिया है। ये केस पूरी तरह मनगढ़ंत है।’

ओबीसी समाज से आने वाली महिला का आरोप है कि उनके परिवार को लगातार धमकियाँ दी जा रही हैं और राजीनामा करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पर गंभीर आरोप

ओबीसी महासभा ने एमपी के भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा पर रेप पीड़िता के पति के खिलाफ झूठी शिकायत दर्ज कराने का आरोप लगाया है। ओबीसी महासभा का कहना है कि पीड़िता पर दबाव बनाने के लिए वीडी शर्मा ने ऐसा किया। ओबीसी महासभा ने इसे लेकर 18 फ़रवरी को छतरपुर में बड़ा प्रदर्शन भी आयोजित किया था जिसमें रेप पीड़िता भी शामिल थी।

पीड़िता ने वीडियो जारी कर लगाई गुहार

रेप पीड़िता ने एक वीडियो जारी कर न्याय की गुहार लगाई है जिसमें वो आरोप लगा रही हैं कि कैसे उनके पति के ख़िलाफ़ फ़र्ज़ी FIR दर्ज कर उनपर दबाव बनाया जा रहा है।

क्या पीड़िता को मिलेगा इंसाफ़ ?

शिवराज सरकार में महिलाओं के ख़िलाफ़ अपराध का ग्राफ़ लगातार बढ़ता गया है। ख़ासकर दलित, आदिवासी और पिछड़े समाज से आने वाली महिलाओं के ख़िलाफ़ रेप, गैंगरेप, हिंसा जैसी वारदातों में उछाल आया है। शिवराज सिंह की पुलिस पर गंभीर आरोप लगे हैं इसलिए ऐसे में सवाल उठता है कि क्या पीड़िता को इंसाफ़ मिलेगा ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here