इम्पोर्टेंस ऑफ़ बैंक क्लर्क एंड बैंक PO( पढ़े विस्तृत जानकारी एंड इसकी वकन्किएस )

0
26

SBI PO Recruitment 2022 भारतीय स्टेट बैंक ने संपूर्ण भारत की ग्रेजुएट पास महिला पुरुष अभ्यर्थियों के लिए एसबीआई पीओ 2056 पदों पर भर्ती हेतु सरकारी रिजल्ट पर चेक करे  नोटिफिकेशन जारी किया है। एसबीआई पीओ भर्ती 2022 के लिए योग्य एवं इच्छुक अभ्यर्थी जो भारतीय स्टेट बैंक द्वारा निर्धारित शैक्षणिक योग्यता की पात्रता रखते हैं अंतिम तिथि से पूर्व निर्धारित एजुकेशन सर्टिफिकेट के साथ एसबीआई की ऑफिशियल वेबसाइट के माध्यम से SBI PO Online Form प्रस्तुत कर सकते हैं। SBI PO 2022 Notification से जुड़ी पदों की संख्या, विभागीय अधिसूचना , आवेदन प्रक्रिया , चयन प्रक्रिया , शैक्षणिक योग्यता , अंतिम तिथि एवं अन्य जानकारी नीचे दिये गये तालिका पर जांच कर सकते हैं। भारतीय स्टेट बैंक में Sbi Probationary Officer Jobs 2022 की तलाश कर रहे संपूर्ण भारत के प्रतिभाशाली अभ्यार्थियों को एसबीआई बैंक पीओ सरकारी जॉब पाने के लिए यह एक अच्छा अवसर है। SBI PO Recruitment से जुड़ी विस्तृत जानकारी नीचे तालिका पर अवलोकन कर सकते हैं। इसके अलावा India Job Alert अपडेट प्राप्त कर सकते हैं।

आज के समय में युवाओं का पसंदीदा जॉब बैंकिंग सेक्टर है। बैंक सरकारी हो या प्राइवेट दोनों ही सेक्टर में जॉब पाने के लिए युवा लगातार प्रयास करते रहते हैं। युवक हो या युवतियां दोनों ही बैंक में अपना भविष्य बनाने के लिए हर संभव कोशिश करते हैं। प्रतिवर्ष करोड़ों उम्‍मीदवार विभिन्न बैंकों की भर्ती प्रक्रिया में भाग लेते हैं। इन बैंकों द्वारा क्लर्क और बैंक पीओ में लगातार भर्ती निकलती रहती है, ऐसे में हमें यह समझना होगा कि बैंक क्लर्क और बैंक पीओ में क्या अंतर होता है और किस जॉब में अधिक फायदा है।

आज के समय में सभी सेक्टर में दो व्यक्तियों का रोल अहम होता है। एक क्लर्क और दूसरा अधिकारी। इन दोनों का बैंक में सबसे अधिक महत्व होता है। यहां पर हम यह जानने की कोशिश करेंगे की दोनों में सबसे ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण कौन सा पद है और किस पद पर जॉब करना फायदेमंद रहेगा।

क्‍या होता है बैंक क्लर्क?

आप जब भी बैंक में जाते है तो आपको सबसे पहले एक काउंटर दिखाई देता होगा। जहां पर बैंक का एक कर्मचारी बैठा होता है जो आपके द्वारा दिए गए काम को पूरा करता हैं। इसमें मुख्‍य रूप से नगद रुपये जमा करना, नगद रुपये निकालना, पासबुक की एंट्री करना, RTGS-NEFT करना आपका चेक जमा करना आदि कार्य होते हैं। यह सभी कार्य एक लिपिक यानि क्लर्क करता है। इसलिए हम कह सकते हैं कि एक क्‍लर्क बैंक का बैक बोन होता है। पूरे दिन जो कार्य क्लर्क द्वारा किया जाता हैं वह अधिकारी के पास जाता है। जो एक पीओ लेवल का अधिकारी पास करता है।

बैंक पीओ क्या होता है?

पीओ यानी प्रोबसनरी ऑफि‍सर जो एक अधिकारी वर्ग के रूप में बैंक में अपना कार्य शुरू करता हैं, क्‍योंकि शुरुआत के 1 से 2 वर्ष तक ये परिवीक्षा अवधि में रहते हैं, इसलिए इन्हें परिविक्षा अधिकारी कहा जाता हैं। किसी भी विभाग के अधिकारी की ही तरह बैंक अधिकारी की भी जिम्मेदारियां अधिक रहती है। इन्‍हें प्रतिदिन कुछ अहम फैसले लेने होते है, जैसे किसे लोन देना है, किसे नहीं। कौन बैंक करप्‍ट हो गया है, किसका खाता बंद करना है, किसकी जांच करनी है आदि।

जाने बैंक क्लर्क और पीओ की नियुक्ति प्रक्रियाभारत के अंदर पब्लिक सेक्टर बैंक भर्ती के लिए एक बोर्ड हैं, जिसका नाम है IBPS (इंस्‍टि‍ट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सनल सिलेक्शन)। यह प्रतिवर्ष बैंकों में क्लर्क एवं अधिकारी की भर्ती के लिए विज्ञप्ति निकालता हैं। इस परीक्षा में प्री एवं मेन लेवल की दो परीक्षाएं और इंटरव्यू एवं ग्रुप डिस्कशन होता है। इन सभी प्रक्रिया से गुजरने के बाद दोनों पदों पर जॉब मिलती है। दोनों पदों के लिए प्रक्रिया एक समान है, लेकिन परीक्षा की कठिनाई लेवल अलग होती है।

दोनों पदों के लिए शैक्षणिक एवं अन्य योग्यता

शैक्षणिक योग्यता

अगर आप किसी भी विषय में ग्रेजुएट हैं तो बैंक क्लर्क एवं पीओ का एग्जाम दे सकते हैं, लेकिन पीओ के लिए आवेदन करने के लिए आपको ग्रेजुएशन में 60% अंक होना अनिवार्य है। इसके आलावा आप जिस राज्य से परीक्षा दे रहें हैं, आपको वहां की लोकल भाषा (हिन्दी, गुजरती, मराठी) साथ ही कम्प्यूटर का भी अच्छा ज्ञान होना जरूरी है।

उम्र सीमा

अगर आप बैंक क्लर्क के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपकी उम्र 20-28 वर्ष होनी चाहिए, वहीं पीओ के लिए 20 से 30 वर्ष के छात्र आवेदन कर सकते हैं। उम्र सीमा में ओबीसी को 3 वर्ष ST, SC को 5 वर्ष एवं विकलांग को 10 वर्ष की छूट मिलती है। इसके आलावा पूर्व सैनिक, विधवा आदि के लिए छूट का प्रावधान अलग है।

दोनों को मिलने वाला वेतन

अगर आप एक बैंक क्लर्क के रूप में जॉब शुरु करते हैं तो आपको शुरुआती लेवल पर 35,000 बेसिक वेतन एवं अन्य भत्ते मिलेंगे। वहीं अधिकारी (पीओ) के रूप में सलेक्‍ट होने पर आपको शुरुआती वेतन करीब 50,000 से 70,000 रुपये मिलेंगे। इसके अलावा कई तरह की सुविधाएं एवं अन्य भत्ते भी मिलेंगे।

बैंकिंग में करियर एवं प्रमोशन

यदि कोई व्यक्ति क्लर्क से बैंक में शुरुआत करता हैं, तो वह 5 वर्ष में पदोन्नति के लिए योग्य होता हैं। हालांकि कुछ परीक्षाएं जैसे JAIIB एवं CAIIB देकर कोई क्लर्क 2 से 3 वर्ष में प्रमोट हो सकता है। इसके बाद गवर्नमेंट आपको आपके कार्य एवं अनुभव के आधार पर किसी बैंक का ईडी या सीएमडी बना देती है, जो कि आप स्वयं किसी परीक्षा देकर नहीं बन सकते। क्लेरिकल से पद्दोन्नती इस प्रकार होती है।

अधिकारी (सहायक प्रबंधक)

प्रबंधक 

वरिष्ठ प्रबंधक 

मुख्य प्रबंधक

सहायक महा प्रबंधक

उप महा प्रबंधक

महा प्रबंधक

पीओ का प्रमोशन

अधिकारी (PO) के लिए भी विकास दर यही होती है बस अंतर इतना होता है कि वे सीधे स्केल 1 से आगे का सफर तय करते हैं एवं क्लेरिकल पहले स्केल 1 एवं फिर आगे का सफर तय करता है। ये पीओ से लेकर जीएम और सीएमडी लेवल तक जा सकते हैं। वहीं अगर कोई क्लर्क प्रमोट होता है तो वह पीओ नहीं, बल्कि सहायक प्रबंधक या अधिकारी 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here