महापरिनिर्वाण मंदिर में कोविड गाइडलाइन का पालन करने वालों को दिया जाएगा

0
117

महापरिनिर्वाण मंदिर में कोविड गाइडलाइन का पालन करने वालों को दिया जाएगा

*महापरिनिर्वाण मंदिर में कोविड गाइडलाइन का पालन करने वालों को दिया जाएगा*

अजित कुमार यादव

तहसील प्रभारी पडरौना
कुशीनगर। भगवान बुद्ध की महापरिनिर्वाण स्थली कुशीनगर में नववर्ष पर एक जनवरी को लगने वाले मेले में दिनभर जश्न का माहौल रहेगा। शनिवार को मेले में उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने तैयारियां पूरी कर ली हैं।
मेले की तैयारियों की कड़ी में बिरला धर्मशाला में कंट्रोल रूम, खोया पाया केंद्र व स्वास्थ्य हेल्प डेस्क आदि शुक्रवार को बना लिया गया। हिरण्यावती नदी के बुद्धा घाट पर भी कंट्रोल रूम बनाया गया है। यह पहली बार बना है। यह हिरण्यावती नदी में नौकायन व चिल्ड्रेन पार्क के संचालन के चलते किया गया है। वाहन पार्किंग के लिए बुद्ध इंटर कॉलेज का क्रीड़ांगन, करुणा सागर स्थल, नवनिर्मित एयरपोर्ट मार्ग, मैत्रेय शिलान्यास स्थल सहित अन्य स्थल तैयार कर लिए गए हैं। एसडीएम वरुण कुमार पांडेय ने बताया कि मेले की तैयारियां मुकम्मल कर ली गई हैं।

मेले में किसी को असहज स्थिति का सामना न करना पड़े, इसके लिए प्रशासन चारों तरफ वाहनों का प्रवेश बैरिकेडिंग कर रोकेगा। मुख्य प्रवेश द्वार से पहले पश्चिम तरफ झुंगवा नहर के पास, बुद्ध इंटर कॉलेज के सामने, मैत्रेय शिलान्यास स्थल व रामनगर नहर के पास बैरिकेडिंग की गई है। नगर पालिका प्रशासन मेले में चार टैंकर लगाकर पेयजल का प्रबंध करेगा। मोबाइल टॉयलेट भी जगह-जगह उपलब्ध रहेंगे। पर्यटन विभाग सैलानियों का स्वागत करेगा। यूपी टूरिज्म की संचालित इकाई होटल पथिक निवास व पर्यटन कार्यालय पर पर्यटकों को चंदन का टीका लगाकर स्वागत किया जाएगा। पर्यटन सूचना अधिकारी राजेश कुमार भारती ने बताया कि इसके लिए कुशीनगर में पर्यटन व्यवसाय से जुड़े व्यवसायियों को निर्देश दिए गए हैं।
निशुल्क मास्क बांटेगा रोटरी क्लब
रोटरी क्लब की ओर से मुख्य प्रवेश द्वार पर एक काउंटर लगाकर आने वाले लोगों को निशुल्क मास्क वितरित किया जाएगा। सुबह से देर शाम तक क्लब के पदाधिकारी काउंटर पर मौजूद रहकर मास्क वितरण करेंगे।
म्यांमार बुद्ध विहार में झूला आकर्षण का केंद्र
म्यांमार बुद्ध विहार का स्वर्ण रंग में भव्य चैत्य सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र रहेगा। परिसर में जल पैगोडा व झूला भी मनोरंजन करेंगे। हिरण्यावती नदी के बुद्धा घाट पर नौकायन व चिल्ड्रेन पार्क का लुत्फ उठाएंगे। संचालकों की ओर से तैयारियां कर ली गई हैं। दर्शनीय स्थलों के रूप में महापरिनिर्वाण मंदिर, मांथा कुंवर मंदिर, रामाभार स्तूप प्रमुख रहेगा।
भीड़ कम रही तो खुलेगा संग्रहालय
मेले में आए लोग राजकीय बौद्ध संग्रहालय में भी जा सकेंगे। यह तभी खुलेगा, जब आने वाले लोगों की भीड़ कम होगी। यह जानकारी देते हुए संग्रहालयाध्यक्ष अमित द्विवेदी ने बताया कि अगर अधिक भीड़ होगी तो उन्हें संभालना मुश्किल होगा। आर्ट गैलरी में अधिक लोगों को प्रवेश नहीं दिया जा सकता है। प्रदर्शनी में लगे फोटोग्राफ व मूर्ति आदि के टूटने का डर बना रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here