तुरंत करें सुधार पैरेंट्स की ये गलतियां भी बच्चों की स्मार्टफोन की लत के लिए जिम्मेदार,

0
50

अब स्मार्टफोन के बढ़ते इस्तेमाल के कारण अब बड़ों समेत बच्चों को भी इसकी लत लग चुकी है. स्मार्टफोन की लत से बच्चों की मानसिक स्थिति पर काफी बुरा असर पड़ रहा है. ऐसे में पेरेंट्स के लिए यह जरूरी है

 वह अपने बच्चों को स्मार्टफोन से दूर रखें और उनकी इस लत को समय रहते छुड़वाएं. आइए जानते हैं बच्चों में को स्मार्टफोन से दूर रखें और उनकी इस लत को समय रहते छुड़वाएं. आइए जानते हैं बच्चों में स्मार्टफोन की लत छुड़वाने के कुछ क्रिएटिव तरीके.  

 जानिए आजकल के समय में जब सबकुछ ऑनलाइन हो गया है, पेरेंट्स के लिए अपने बच्चों को फोन की स्क्रीन से दूर रखना किसी चैलेंज से कम नहीं है. स्मार्टफोन्स, टैबलेट्सआजकल के समय में बच्चों के लिए काफी जरूरी टूल्स बन गए हैं.

ऑनलाइन वर्ल्ड के काफी फायदे भी हैं. इससे बच्चों को सेकेंड्स में ही अपने किसी भी सवाल का जवाब. आसानी से मिल सकता है लेकिन स्मार्टफोन आदि टूल्स का इस्तेमाल करने से बच्चों की सेहत पर इसका काफी बुरा असर पड़ता है.

इन टूल्स का इस्तेमाल करने से बच्चो. की सेहत पर इसका काफी बुरा असर पड़ता है. इन टूल्स का इस्तेमाल करने से बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य भी प्रभावित हो रहा है. 

वह स्मार्टफोन के इस्तेमाल से बच्चों पर पड़ने वाले खतरनाक प्रभाव एक स्टडी के अनुसार, युवा रोजाना लगभग 9 घंटे स्क्रीन के सामने रहते हैं. वहीं, 8 से 12साल तक के बच्चे रोजाना लगभग 6 घंटे स्क्रीन के सामने रहते हैं. स्मार्टफोन के ज्यादा इस्तेमाल के कई खतरनाक साइड इफेक्ट होते हैं. 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here